मोदी की सफल कूटनीति, अर्जेंटीना नहीं अब भारत में होगा G-20 शिखर सम्मलेन


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्जेंटीना में आयोजित दो दिवसीय समारोह के समापन में घोषणा करते हुए बताया कि 2022 में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन भारत में होगा| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को शिखर सम्मेलन की मेजबानी प्राप्त होने के बाद इसके लिए इटली को धन्यवाद दिया|

india to host g20 summit in 2022 75th year of independence pm modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 समूह के नेताओं को भारत आने का निमंत्रण दिया, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2022 G-20 शिखर सम्मेलन भारत में नहीं बल्कि इटली में आयोजित होने वाला था मगर नरेंद्र मोदी की अच्छी कूटनीति के कारण अब वह भारत में होगा|

प्रधानमंत्री ने घोषणा के बाद इस खबर को अपने टि्वटर हैंडल पर भी साझा किया. उन्होंने बताया, "2022 में भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं. उस विशेष वर्ष में, भारत G-20 शिखर सम्मेलन में विश्व का स्वागत करने की आशा करता है. विश्व की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था भारत में आइए. भारत के समृद्ध इतिहास और विविधता को जानिए और भारत के गर्मजोशी भरे अतिथि संस्कार का अनुभव लीजिए.
G-20 विश्व की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों का एक संगठन है जिसमें भारत अमेरिका फ्रांस जर्मनी इटली समेत 19 देश और यूरोपीय संघ सम्मिलित है|

जापान अमेरिका और भारत के साथ पर मोदी मंत्र

PM नरेंद्र मोदी अपनी कुशल नेतृत्व की क्षमता और अपनी बात को हर एक व्यक्ति को समझा पाने के कौशल के कारण बहुत प्रसिद्ध है| प्रधानमंत्री मोदी ने जी-20 कार्यक्रम के दौरान अमेरिका जापान सहित अन्य तमाम देशों के राष्ट्र अध्यक्षों से मुलाकात की. जापान के साथ बैठक के बाद नरेंद्र मोदी ने एक नारा दे दिया "जय".
J A I = Japan America India

नरेंद्र मोदी के अनुसार जय यानी सफलता, यानी कि अगर तीनों देश साथ मिलकर चलेंगे तो हर परिस्थिति में सफलता हासिल अवश्य होगी|

Post a Comment

0 Comments