PM नरेंद्र मोदी ने बनवाया दुनिया का सबसे ऊंचा स्टैचू, स्टेचू ऑफ़ यूनिटी

- अक्तूबर 15, 2018
लगातार भारत अपनी संप्रभुता बढ़ाता जा रहा है इसकी वजह है उन सभी चीजों पर ध्यान देना जिससे भारत को शक्ति मिली| हमेशा से कहा गया है एकता में शक्ति और संकल्प से सिद्धि, अपना देश भी ऐसे ही बना है|
PM नरेंद्र मोदी ने बनवाया दुनिया का सबसे ऊंचा स्टैचू ऑफ़ यूनिटी

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

क्या आप जानते हैं? जब देश आजाद हुआ था तब लगभग भारत के 152 छोटे छोटे टुकड़े थे, हर टुकड़े का मालिक उसे अपना एक अलग देश बनाना चाहता था| उन लोगों पर महात्मा गांधी का जादू नहीं चल रहा था और दूसरी तरफ जिन्ना तो वैसे भी देश को तोड़ रहे थे|

PM नरेंद्र मोदी ने बनवाया दुनिया का सबसे ऊंचा स्टैचू ऑफ़ यूनिटी


तब गुजरात के एक महान व्यक्ति ने देश के उन सभी लोगों से मिलकर के उनमें एकता की भावना फैलाई उन को एकजुट बनाया| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के ही हैं और जनमानस में यूनिटी बनाकर रखने के मामले में प्रधानमंत्री मोदी भी माहिर है|

स्टैचू आफ यूनिटी की ऊंचाई

भारत के गुजरात में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैचू आफ यूनिटी बनाई गई है, भारत के अजूबों में अब उसका भी नाम होगा| सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा की ऊंचाई 182 मीटर है| क्या आप जानते हैं इतनी ऊंची कोई भी प्रतिभा आज तक दुनिया में नहीं बनी| यह पहली बार भारत में बनी है|

PM नरेंद्र मोदी ने बनवाया दुनिया का सबसे ऊंचा स्टैचू ऑफ़ यूनिटी


यूनाइटेड स्टेट अमेरिका की स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी की ऊंचाई 93 मीटर है और भारत में बनी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लंबाई इससे दोगुनी है| आप अंदाजा लगा सकते हैं कितना अच्छा नजारा होगा| बहुत दूर दूर तक इसे आसानी से देखा जा सकेगा|

यह ना होते तो उत्तर प्रदेश से मध्य प्रदेश जाने का वीजा लगता

स्टेचू ऑफ यूनिटी के बनने से सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि लोगों को उत्सुकता होगी कि आखिरकार सरदार पटेल जी की इतनी बड़ी प्रतिमा क्यों बनवाई गई| जब लोगों में यह उत्सुकता आएगी तो वह जानेंगे कि उनका व्यक्तित्व क्या था, किस प्रकार उन्होंने देश को अखंड रखने के लिए लड़ाई लड़ी|

वरना आप अंदाजा नहीं लगा सकते है कि उत्तर प्रदेश से मध्य प्रदेश जाने का भी वीजा लगना निश्चित हो जाता अगर सरदार वल्लभभाई पटेल ना होते| क्योंकि यह सारे हिस्से यानी आज के शहर और प्रदेश अलग अलग देश बनने वाले थे|

जनमानस में एकता लाने का प्रयास

प्रतिमा बनाने का कार्य 2013 में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुरू कराया था यह प्रतिमा 2018 मैं बनकर तैयार हो चुकी है और अब 31 अक्टूबर 2018 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका लोकार्पण करेंगे|

PM नरेंद्र मोदी ने बनवाया दुनिया का सबसे ऊंचा स्टैचू ऑफ़ यूनिटी

PM नरेंद्र मोदी ने देश के विकास के लिए एक और महान कार्य किया| सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा एकता लाएगी और इसके साथ ही हिंदुस्तान में एक और अनमोल चीज बन गई यानी कि पर्यटक अत्यधिक संख्या में आएंगे| जिसे भारत की संप्रभुता और भी अत्यधिक बढ़ेगी| 

अगर आप सरदार वल्लभभाई पटेल की इतनी ऊंची प्रतिमा देखना चाहते हैं तो आपको इस 31 तारीख तक इंतजार करना पड़ेगा| क्योंकि उस दिन इसका लोकार्पण हो जाने के बाद यह सभी लोग आसानी से देख पाएंगे|
स्टेचू ऑफ यूनिटी बनाने का यह महान कार्य सराहनीय है इस खबर को शेयर करें|