केजरीवाल से बेटे की मौत का न्याय मांगने, अनशन पर बैठी 80 साल की बूढ़ी मां, सीएम ने सुध नहीं ली


 केजरीवाल से मिलने के लिए अनशन पर बैठी 80 साल की बूढ़ी मां, ढाई साल से नजरअंदाज कर रहे CM

ढाई साल से लगातार दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल दिवंगत अब्दुल सबूूर की बूढ़ी मां मुख्यमंत्री से मिलने की कोशिश कर रही है लेकिन केजरीवाल ने ध्यान तक नहीं दिया और मिलने का वक्त भी नहीं दिया|| इसलिए परेशान होकर दिल्ली के सिविल लाइंस इलाके में ट्रामा सेंटर के नजदीक परिवार वालों के साथ लगभग 4 दिनों से लगातार अनशन पर है परिवार के लोग आम आदमी के हितैषी होने का दावा करने वाले आप पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल से मिलना चाहते हैं| लेकिन सत्ता के बड़े सिंहासन पर बैठे दिल्ली के मुख्यमंत्री के पास ट्विटर पर खेलने के लिए तो टाइम है दूसरे नेताओं पर कमेंट करने के लिए तो टाइम है| इस परिवार के लोगों से मिलने के लिए टाइम नहीं है|

 केजरीवाल से मिलने के लिए अनशन पर बैठी 80 साल की बूढ़ी मां, ढाई साल से नजरअंदाज कर रहे CM
Mother of Abdul

80 साल की हनीफ खातून अपनी बहु मलका खातून के साथ 28 सितंबर 2018 से अनशन पर बैठी है. दरअसल सन 2016 मार्च को दिल्ली पुलिस के 1 हेड कांस्टेबल अब्दुल को ट्रक ने बुराड़ी के पास चेकिंग के दौरान कुचल दिया था हेड कांस्टेबल अब्दुल की मौके पर ही मौत हो गई| लेकिन बावजूद इसके उन्हें कोई भी सरकारी मदद नहीं मिली| अभी तक न्याय भी नहीं मिला|

टि्वटर पर मुख्यमंत्री केजरीवाल

परिवार को मदद चाहिए, घर का खर्चा चलाने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति को नौकरी चाहिए मुआवजा चाहिए| लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री केवल तभी काम करते हैं जब वहां पर मीडिया हो उन्हें सुर्खियां बटोरने का मौका मिले और ट्वीट करने के लिए कुछ धमाकेदार खबर भी| दिवंगत हो चुके दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल अब्दुल का परिवार इस वक्त दुख की हालत में है|

 केजरीवाल से मिलने के लिए अनशन पर बैठी 80 साल की बूढ़ी मां, ढाई साल से नजरअंदाज कर रहे CM

ऐसे में टि्वटर और सोशल मीडिया के माध्यम से भाजपा सरकार को मुस्लिम विरोधी बताने वाले दिल्ली के मुखिया अरविंद केजरीवाल के ऊपर सवाल उठता है ढाई साल से लगातार गुहार लगाने के बाद आखिर उन्होंने इस मुस्लिम परिवार की खबर क्यों नहीं ली|

इस परिवार के जीविका का साधन दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल अब्दुल ही थे उनके जाने के बाद परिवार की माली स्थिति पूरी तरह से बिगड़ गई है परिवार को सरकार की तरफ से मदद की आवश्यकता है| मुस्लिम टोपी पहनकर मुसलमानों के वोटों के लिए प्रेम जताने वाले अरविंद केजरीवाल असल में कब काम करेंगे|

हद तो तब हो चुकी है जब अपॉइंटमेंट लेकर के और दफ्तरों में भागदौड़ करके अब्दुल का परिवार थक चुका है अनशन पर बैठा हुआ है उसके बावजूद अरविंद केजरीवाल अभी तक सुध लेने नहीं पहुंचे| अरविंद केजरीवाल के किसी भी मंत्री अधिकारी ने भी उनकी खबर नहीं ली है|

परिवार ने बातचीत में कहा कि उन्हें लगने लगा है कि अरविंद केजरीवाल मात्र सोशल मीडिया और दिखावे की राजनीति करते हैं| उन्हें भाजपा कांग्रेस सपा बसपा पर ही कमेंट करने से फुर्सत नहीं| अरविंद केजरीवाल अब केवल दिखावटी नेता बन चुके हैं|

Post a Comment

0 Comments