माई के लाल को ललकारने वाले शिवराज पर भी SC-ST Act लगा


 माई के लाल को ललकारने वाले शिवराज पर भी SC-ST Act लगा

एट्रोसिटी एक्ट यानी कि sc-st एक्ट पर अभी बवाल मचा हुआ है| ब्राहमण, क्षत्रीय, प्रजापति शर्मा जाट गुर्जर कायस्थ सभी हिंदू इस एक्ट के खिलाफ हैं क्योंकि इसका गलत उपयोग राजनीति और गुंडागर्दी के क्षेत्र में काफी ज्यादा किया जा रहा है|

गलत उपयोग करने वाले करते यह है कि मामला कोई साधारण सी बहस का होता है| लेकिन बदला लेने की नियत से SC ST के अंतर्गत प्रकरण दर्ज कराकर कार्यवाही की मांग करने लगते हैं जो कानूनन बहुत बड़ा जुर्म होता है और इससे आम जनमानस को काफी परेशानी है|

प्रतिदिन लगभग 50 मुकदमे हर राज्य में दर्ज कराए जाते हैं जिनमें से लगभग 45 मुकदमे झूठे होते हैं बेवजह मुआवजे की राशि वसूलने के लिए लगा दिए जाते हैं|

शिवराज सिंह चौहान एससी एसटी एक्ट में फंसे

यह सब कुछ चल ही रहा था कि कांग्रेस की एक महिला नेता ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर एससी एसटी एक्ट लगा दिया| महिला का नाम बसंती है और महिला का कहना है कि मुख्यमंत्री ने उस महिला का नाम लेकर के गाली दी| वह महिला मंत्री का विरोध कर रही थी|

हालांकि पूरे कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग हो रही थी लाइव प्रसारण हो रहा था और उस बीच में कुछ भी ऐसा नहीं हुआ, जिसकी वजह से मामला झूठा है यह पकड़ में आ गया|

कांग्रेस की महिला नेता बसंती ने यह मामला अजाक के सीही थाना में दर्ज कराया| शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं इसीलिए उनको गिरफ्तार करने से पहले जांच की गई और जांच में महिला पकड़ में आई| शुक्र मनाएं कि वह मुख्यमंत्री थे वरना नियम के मुताबिक तो सीएम को भी बिना सुनवाई के 6 महीने के लिए जेल में डाल दिया जाना था|

आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जब एक मुख्यमंत्री पर झूठा मुकदमा दर्ज किया जा सकता है तो फिर आम जनमानस की क्या हालत होती होगी| उन पर तो जल्दी सुनवाई करने वाला भी कोई नहीं होता उन्हें सीधे जेल में डाल दिया जाता है|