राहुल गाँधी मोबाइल में पोर्न देखते हुए फोटो का सच क्या है?


सोशल मीडिया पर एक फोटो काफी तेज़ी से शेयर की जा रही है फेसबुक पर ये फोटो पूरी तरह से वायरल हो चुकी है इस फोटो में कांग्रेस के प्रेसिडेंट राहुल गाँधी अपने मोबाइल में अश्लील तस्वीरें देखते हुए दिखाई दे रहे हैं|
Viral : राहुल गाँधी मोबाइल में पोर्न देखते हुए फोटो का सच क्या है?


fake image of rahul gandhi viral photo seeing porn

इस फोटो को देखते ही लोगो ने कांग्रेस बीजेपी करना शुरू कर दिया और फलाना ढिकना लिखने लगे| सोशल मीडिया पर अभी तक ऐसी तस्वीरें बीजेपी नेताओ को बदनाम करने के लिए बनायीं जाती थी लेकिन इस बार कांग्रेस भी इस लपेटे में आ गयी.

फोटो नोटेबंदी के बाद का

ये जो फोटो वायरल हो रही है इसे एडिट किया गया है, हो सकता है राहुल गाँधी पोर्न देखते हैं मगर राहुल गाँधी पब्लिक प्लेस में अश्लील तस्वीरें नहीं देख रहे थे| ये उनकी पसंद है|

जब हमने गूगल पर इस फोटो से संबन्धित सर्च की तो पूरी असलियत सामने आ गयी ये फोटो नोटेबंदी के बाद का है जिसमे राहुल गाँधी 1000 रूपए के बंद हो चुके नोट लेकर मीडिया के कैमरे में आने की कोशिस में थे|

real image of rahul gandhi viral photo seeing porn

किसी की शरारत

फोटो इतने ख़राब तरीके से एडिट की गयी की साफ़-साफ़ पकड़ में आ जाती है. किसी भी पार्टी का आईटी सेल में इतने बेकार योग्यता वाले लोग नहीं होंगे जिनकी एडिटिंग इतनी आसानी से पकड़ी जा सके, ये काम किसी नार्मल आदमी का ही होगा क्यूंकि कोई भी प्रोफेशनल व्यक्ति इतनी ख़राब फोटोशॉप नहीं करेगा.

हमारी जांच में राहुल के मोबाइल पर पोर्न देखने वाला फोटो फर्जी साबित हुआ है.